मत्स्य विकास नीति-2013

1 मत्स्य पालन को कृषि का दर्जा
2 समान पट्टा नीति 
3 विभाग का सुदृढ़ीकरण- रिक्त पदों पर भर्ती 
4 नदियों एवं जलाशयों में मत्स्य विकास (रिवर रैंचिंग) 
5 लखनऊ स्थित गोमतीनगर में एक फिश आउट-लेट की स्थापना
6 थोक एवं फुटकर फिश मार्केट एवं कोल्ड चेन की स्थापना
गुणवत्ता मत्स्य बीज उत्पादन-ब्रूड बैंक, हैचरी, नर्सरी की स्थापना।
8 मत्स्य पालन विविधीकरण हेतु आधुनिक तकनीक का उपयोग- केज एवं पेन कल्चर तकनीक, एकीकृत मत्स्य पालन। 
9 मत्स्य उत्पादों के अधिक मूल्य प्राप्ति हेतु खाद्य प्रसंस्करण एवं वैल्यू एडीशन को बढ़ावा देना।
10 एयरेशन तकनीक के माध्यम से मत्स्य विकास।
11 मत्स्य विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों को उच्च एवं आधुनिक तकनीकी में प्रशिक्षण 
12 स्टेट फिशरीज डेवलपमेन्ट बोर्ड का गठन
13 विभाग में प्रशिक्षण एवं प्रसार विंग की स्थापना
14 फिश फीड मिल की स्थापना
15  उ0प्र0 मत्स्य विकास निगम में मार्केटिंग सेल स्थापित कर निगम को सशक्त करना एवं रिक्त पदों को भरना/रंगीन मछलियों का उत्पादन।
16 अधिकाधिक जल संपदा को मत्स्य विकास हेतु उपयोग में लाना।