सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005



           विभागीय अधिकारियो/कर्मचारियों के अधिकार तथा कर्तव्य

          विभाग में अधिकारियों एव कर्मचारियों की शक्तिया और कर्तव्य राज्य सरकार द्वारा निर्धारित प्राविधानान्तर्गत हैं। वेबसाइट पर पदवार विवरण उपलब्ध है।

निदेशक मत्स्य

1. प्रदेश में मत्स्य पालन से सम्बन्धित शासकीय योजनाओं का क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण।
2. विभागाध्यक्षों को प्राप्त समस्त वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकारों के दायित्वों का निर्वहन।
3. विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन में अपने संस्तुतियों को शासन को प्रेषित करना और उनके द्वारा प्राप्त निर्देशों का अनुपालन करना।
संयुक्त निदेशक(प्रशासन)
1. श्रेणी "क"  एवं "ख"  के अधिकारियों के ऐसे समस्त प्रकरणों जिन पर शासन स्तर से निर्णय लिया जाना हो, निदेशक के परामर्श से सम्पादित करेगें।
2. श्रेणी- "ग"  एवं "घ"  के  समस्त कर्मचारियों के सेवा सम्बन्धी प्रकरण स्वतंत्र रूप से सम्पादित करेगें।
3. अधिकारियों/कर्मचारियों के सेवा सम्बन्धी समस्त न्यायिक वादों सेवा अधिकरणों के समक्ष विचाराधीन प्रकरणों, पेंशन प्रकरणों अनुशासिक कार्यवाही एवं अनुश्रवण।
4. शिकायतों की जाँच सम्बन्धी कार्यो का सम्पादन निदेशक मत्स्य के परामर्श से।
5. स्थानान्तरण सम्बन्धी समस्त कार्य निदेशक मत्स्य के परामर्श से।
6. मुख्यालय पर सामान्य प्रशासन की समस्त कार्यवाही।
मुख्यालय के कार्यालयाध्यक्ष से सम्बन्धित समस्त कार्य।
प्रशिक्षण प्रबन्धन सम्बन्धी समस्त कार्य नोडल अधिकारी के रूप में सम्पादित करेगें।
7. मुख्य सर्तकता अधिकारी के दायित्वों का निर्वाहन।
8. स्थापना से सम्बन्धित समस्त पत्रावलियाँ उप निदेशक मत्स्य(मु0) के माध्यम संयुक्त निदेशक मत्स्य(प्रशासन)/अद्योहस्ताक्षरी को प्रस्तुत की जायेगीं।
9. लेखा शाखा सम्बन्धी प्रत्रावलियाँ संयुक्त निदेशक(प्रशासन)/कार्यालयाध्यक्ष के माध्यम से अद्योहस्ताक्षरी को प्रस्तुत की जायेंगी
संयुक्त निदेशक मत्स्य(तकनीकी)
1. लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा, विधान परिषद के प्रश्नों का उत्तर भेजना तथा माननीय मंत्री जी/राज्यमंत्री जी को उत्तर विषय में अवगत कराना।
2. सभी पुरानी व नयी योजनाओं का संचालन।
3. मत्स्य पालक विकापस अभिकरणों ़द्वारा किये जा रहे कार्यो की समीक्षा तथा क्रियान्वयन।
4. सामान्य शाखा के समस्त कार्यो का संचालन तथा विभागीय जलाशयों का निस्तारण।
5. मत्स्य विकास एवं मछुआ विकास परिषद सम्बन्धी कार्य।
6. प्रदेश के मत्स्य प्रक्षेत्रों एवं हैचरियों से सम्बन्धित समस्त कार्यो का अनुश्रवण।
7. मत्स्य आस्थानो/विभागीय जलाशयों में मत्स्य बीज संचय व मत्स्य उत्पादन लक्ष्यों की पूर्ति।
8. सभी निर्माण कार्यो का पर्यवेक्षण/क्रियान्वयन।
9. सम्बन्धित विषयों पर भारत सरकार/राज्य सरकार/विभिन्न संस्थाओं तथा निदेशालय स्तर पर बैठकों का आयोजन, कार्यवृत्त तैयार कराना व अनुपालन आख्या का प्रेषण।
10. विभागीय आडिट रिपोर्ट पर प्राप्त अनुपालन आख्याओं का निस्तारण।
11. नोट- मत्स्य प्रक्षेत्र विशेषज्ञ/सहायक निदेशक(प्रशिक्षण)/ अनुसंधान अधिकारी रसायन/ अर्थ एंव संख्याधिकारी उप निदेशक मत्स्य(नियो0) के अधीन अपना कार्य सम्पादित करेगें तथा उप निदेशक मत्स्य(नियो0) द्वारा संयुक्त निदेशक मत्स्य के माध्यम से पत्रावलियां प्रस्तुत की जायेंगी।
अर्थ एंव संख्याधिकारी
1. डाटाबेस योजना।
2. सांख्यकीय सम्बन्धी समस्त कार्य।
3. रोजगार सृजन/रोजगार छतरी योजना की साप्ताहिक एवं मासिक सूचनाओं का निर्माण, सम्बन्धित शाखाओं से प्रगति आंकड़े एकत्रित कर संकलित करायेगें और संयुक्त निदेशक मत्स्य तकनीकी को अनुसंधान अधिकारी रसायन के माध्यम से उपलब्ध करायेंगे।
4. मत्स्य आयात/निर्यात सम्बन्धी आंकड़ो का रख-रखाव।
5. मछलियों के थोक/फुटकर भावों के सम्बन्ध में सूचना का रख-रखाव।
6. निदेशक/सं0नि0म0/उ0नि0म0(नियोजन) द्वारा सौंपे गये आकस्मिक प्रकृति की सूचनायें।
मत्स्य प्रक्षेत्र विशेषज्ञ
1. आयोजनागत क्षेत्र में किये जाने वाले कार्यो से सम्बन्धित कार्य स्थलों का चुनाव/कन्टूर सर्वे/आगण़नो का बनाया जाना।
2. विभागीय प्रक्षेत्रों का सुदृढ़ीकरण।
3. कठौता ताल झील से सम्बन्धित समस्त कार्य।
4. निर्माण कार्यो के प्लान/एस्टीमेट बबनवाया जाना तथा उन्हे स्वीकृत कराना।
5.  निदेशक/सं0नि0म0/उ0नि0म0(नियोजन) द्वारा सौंपे गये आकस्मिक प्रकृति की सूचनायें।
उप निदेशक मत्स्य (नियोजन)
1. भारत सरकार/राज्य सरकार द्वारा संचालित केन्द्र पुरोनिधानित समस्त योजनाओं की स्वीकृति आदि से संबंधित समस्त कार्यवाही।
2. विशिष्ट आयोजनागत योजनाओं तथा अन्य नई योजनाओं की संरचना, क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण।
3. मछुवा आवासों की स्वीकृति, आवंटन एवं निमार्ण संबंधी कार्यों का अनुश्रवण।
4. मत्स्य विपणन केन्द्रों से संबंधित समस्त कार्य।
5. समस्त पुरानी योजनाओं के संचालन, मत्स्य पालक विकास अभिकरण योजना, विशेष अंशदान योजना, 21 सूत्रीय कार्यक्रम योजना, अम्बेडकर ग्राम विकास योजना, स्वर्णजयन्ती ग्राम स्वरोजगार योजना, प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना आदि से सम्बन्धित समस्त कार्य।
6. समस्त निर्माण कार्यों का अनुश्रवण एवं प्रगति समीक्षा।
7. मत्स्य विकास एवं मछुआ विकास परिषद की बैठकों का आयोजन एवं निर्णयों का क्रियान्वयन कराना।
8. मत्स्य प्रक्षेत्रों, मत्स्य अस्थान एवं हैचरियों के रख-रखाव तथा उस पर ब्यय होने वाली धनराशि संबंधी समस्त कार्य।
9. समस्त श्रोंत्रो से मत्स्य बीज उत्पादन, उत्पादित बीज का मत्स्य पालकों को वितरण एवं जलाशयों के संचय सम्बन्धी समस्त कार्य।
10. बजट अभिभाषण/ परफारमैन्स बजट/व आयोग/लोक लेखा समिति एवं महालेखाकार द्वारा प्राप्त ड्राफ्ट पैरों का निस्तारण।
11. विभागीय योजनाओं की संरचना तथा क्रियान्वयन सम्बन्धी कार्य।
12. आयोजनागत योजनाओं की संरचना परिव्यय, बजट प्रस्ताव तैयार कर वित्तीय स्वीकृतियों के समस्त प्रस्तावों का निस्तारण।
13. आयोजनागत योजनाओं की संरचना परिव्यय, बजट प्रस्ताव तैयार कर विय स्वीकृतियों के समस्त प्रस्तावों का निस्तारण।
14. (अ) नियोजन संबंधी कार्यों हेतु स0नि0म0 (प्रशि0), उ0नि0म0 (नि0) से सम्बद्ध रहेंगे।
(ब) प्रयोगशाला एवं सामान्य शाखा से संबंधी कार्यों हेतु अनुसंधान अधिकारी (रसायन) उ0नि0म0 (नि0) से सम्बद्ध रहेंगे।
(स) संख्या शाखा एवं विभागीय बैठकों आदि के कार्यों हेतु अर्थ एवं संख्याधिकारी उ0नि0म0 (नि0) से सम्बद्ध रहेंगे।
(द) तकनीकी कार्यों के निर्वहन एवं सहयोग हेतु मत्स्य प्रक्षेत्र विशेषज्ञ/अवर अभियन्ता (राजपत्रित) उ0नि0म0 (नि0) से सम्बद्ध रहेंगे।
15 मुख्य सचिव, कृषि उत्पादन आयुक्त, सचिव मत्स्य एवं निदेशक मत्स्य की साप्ताहित समीक्षा बैठकें तथा मा0 मुख्यमंत्री द्वारा चिन्हित कार्यक्रमों से सम्बन्धित पत्राचार एवं अनुश्रवण।
16 निदेशक मत्स्य द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य कार्य।
उप निदेशक मत्स्य
1. विभिन्न आयोजनागत योजनाओं का क्रियान्वयन तथा अनुश्रवण।
2. आयोजनेत्तर व्यय पर नियंत्रण।
3.  अधिष्ठान से सम्बन्धित समस्त प्रशासनिक कार्यो का निस्तारण।
4. आहरण वितरण सम्बन्धी समस्त कार्य।
5. मण्डल स्तरीय/मुख्यालय/शासनस्तर के बैठको में प्रतिभाग।
6. अधीनस्थ जनपदों का भ्रमण/विभागीय कार्यो का अनुश्रवण।
7. नियंत्रणाधीन अधिकारियों की वार्षिक चरित्र प्रविष्टि।
8.  सेवा निवृत्त कार्मिकों का आनुतोषिक सामूहिक बीमा/जी0पी0एफ0 आदि प्रकरणों का निस्तारण।
9. विभिन्न स्तर से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण।
10. सूचना का अधिकार सम्बन्धी कार्य।
11. अधीनस्थ कार्यालयो का मासिक/त्रैमासिक निरीक्षण।
12.  अनुपयोगी भण्डार सामग्री का अपलेखन स्वीकृत।
13.  आडिट आपत्तियों का निस्तारण।
14. भविष्य निर्वाह निधि का अग्रिम ऋण स्वीकृत।
15.  मण्डल पर सामान्य प्रशासन की समस्त कार्यवाही।
16.  क्षेत्राधिकारी के अधीन नियुक्तियाँ/प्रोन्नतियाँ।
17. निदेशक मत्स्य, उ0प्र0 लखनऊ/मण्डलायुक्त द्वारा समय-समय पर सौंपे गये कार्यो का निस्तारण।
सहायक निदेशक मत्स्य
1. विभिन्न आयोजनागत योजनाओं का क्रियान्वयन तथा अनुश्रवण।
2. अधिष्ठान से सम्बन्धित समस्त प्रशासनिक कार्यो का निस्तारण।
3. आहरण वितरण सम्बन्धी समस्त कार्य।
4. जनपद स्तरीय भ्रमण तथा विभागीय कार्यो का अनुश्रवण।
5. नियंत्रणाधीन कर्मचारियों की वार्षिक प्रविष्टि।
6. सामूहिक बीमा/जी0पी0एफ0 आदि प्रकरणों का प्रस्ताव तैयार करना।
7. जनपद स्तर से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण।
8. आडिट आपत्तियों का निस्तारण।
9. क्षेत्र भ्रमण व विभागीय प्रक्षेत्रों से मत्स्य बीज उत्पादन कार्य का अनु़श्रवण।
10. जिला योजनाओं की संरचना एवं सक्षम स्तर पर प्रस्तुतीकरण।
11. तहसील दिवसों में प्रतिभाग लेना।
12. उप निदेशक मत्स्य/निदेशक मत्स्य, उ0प्र0 लखनऊ द्वारा समय-समय पर सौंपे गये कार्यो का निस्तारण। 
ज्येष्ठ मत्स्य निरीक्षक
1. नियंत्रणाधीन मत्स्य प्रक्षेत्रों/जलाशयों की प्रशासनिक व तकनीकी प्रबन्ध व्यवस्था।
2. मत्स्य शिकारमाही की देख रेख, चोरी की रोकथाम की व्यवस्था तथा जलाखय सम्बन्धी अभिलेखों व वैज्ञानिक आकड़ों का रख-रखाव व अधीनस्थ स्टाफ को मार्गदर्शन।
3. जलाशयों में मत्स्य बीज संचय अपनी देख रेख में कराना तथा निलामी हेतु सहायक निदेशक मत्स्य को सहयोग।
4. मत्स्य बीज उत्पादन/वितरण के कार्य/कार्यक्रमों का निर्धारण, लक्ष्यों की पूर्ति सुनिश्चित कराना।
5. रोगग्रस्त मछलियों के उपचार व रोग नियन्त्रण कार्य हेतु अधीनस्थ स्टाफ(प्रक्षेत्रों पर)को आवश्यक मार्ग निर्देशन।
6. अधीनस्थ स्टाफ का यात्रा कार्यक्रम व यात्रा भत्ता बीजकों को अपनी संस्तुति सहित सहायक निदेशक मत्स्य को अग्रसारित करना तथा अधीनस्थ स्टाफ के दैनिक कार्यो को सुनिश्चित करते हुये उस पर नियन्त्रण तथा अधीनस्थ स्टाफ के वार्षिक क्रियाकलाप का आंकलन व सहायक निदेशक मत्स्य को अग्रसारण तथा जलाशय सम्बन्धी मासिक प्रगति विवरण अधीनस्थ स्टाफ से तैयार कराना व उसे सहायक निदेशक मत्स्य को प्रेषित कराना।
मत्स्य निरीक्षक
1. जलाशय को नीलामी पर उठाने में सहयोग।
2. मत्स्य शिकारमाही हेतु परिमिट जारी करना एवं शिकारमाही के दौरान दैनिक माप तौल का कार्य।
3. मत्स्य शिकारमाही पर नियन्त्रण व निरीक्षण व मत्स्य प्रजनन, उत्पादन, वितरण का कार्य
4. जलाशय की प्रशासनिक व तकनीकी प्रबन्ध व्यवस्था व जलाशय में मत्स्य बीज संचय का कार्य।
5. जलाशय सम्बन्धित स्टोर सम्बन्धी व सहकारिता सम्बन्धी समस्त कार्यो का निर्धारण।
6. मासिक प्रगति रिर्पोट(जलाशय/प्रक्षेत्र सम्बन्धी) तैयार करना।
7. रोगग्रस्त मछलियों के उपचार व रोग नियन्त्रण कार्य।
8. अधीनस्थ स्टाफ पर नियन्त्रण तथा उनसे सम्बन्धित कार्यो की देख रेख।
मत्स्य विकास अधिकारी
1. जलाशय प्रभारी के निर्देशानुसार मत्स्य शिकारमाही हेतु परिमिट जारी करना।
2. मत्स्य शिकारमाही पर नियंत्रण में सहयोग।
3. मत्स्य उत्पादन पर प्रजातिवार व उससे सम्बन्धित वैज्ञानिक आकड़ो का रख-रखाव।
4. जलाशय की प्रशासनिक व तकनीकी प्रबन्ध व्यवस्था में सहयोग।
जलाशय प्रभारी के दिशा निर्देशन में जलाशय में मत्स्य बीज संचय।
5. अधीनस्थ स्टाफ का यात्रा कार्यक्रम व यात्रा भत्ता बीजकों को अपनी संस्तुति सहित जलाशय प्रभारी को अग्रसारित करना तथा अधीनस्थ स्टाफ के दैनिक कार्यो को सुनिश्चित करते हुये उस पर नियन्त्रण।
6. प्रभारी होने की दशा में संचित बूडर एवं भण्डारण का रख-रखाव करना।
7. रोगग्रस्त मछलियों के उपचार व रोग नियन्त्रण कार्यो में सहयोग।
वित्त एवं लेखाधिकारी
लिपिक संवर्ग
टंकक, डिस्पैच, पत्रों का प्रेषण।
पत्र जो प्राप्त होते हैं उनको नियमों/शासनादेशों की व्याख्या सहित निर्णय हेतु पत्रावलियों को उच्च स्तर पर प्रस्तुतीकरण।
प्रभारी/वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी/संयुक्त निदेशक मत्स्य/निदेशक मत्स्य द्वारा सौंपे गये कार्यों का सम्पादन।
मछुआ 
1. प्रक्षेत्रों/जलाशयों में चोरी की रोकथाम हेतु प्रभारी के निर्देशन पर निरन्तर चेकिंग करना।
2. विभागीय भण्डार में उपलब्ध जालों की समय से मरम्मत का कार्य।
3. प्रक्षेत्र की नर्सरियों के खादीकरण, गुड़ाई एवं बन्धों की मरम्मत का कार्य।
4. विभागीय संसाधनों से प्रक्षेत्र में पानी भरने का कार्य।
5. मत्स्य प्रजनन/उत्पादन/वितरण कार्यो में प्रभारी के निर्देशानुसार कार्य करना।
6. प्रदर्शनी, शिविर एवं गोष्ठियों में प्रभारी के निर्देशानुसार कार्य करना एवं एक्योरियम के रख-रखाव का कार्य करना।
7. उच्च अधिकारियों के निर्देश एवं आदेश का समय से अनुपालन करना।

updation work is going on....

BACK